मध्यप्रदेश के 31 अभ्यारणों की सूची wildlife-sanctuary-of-madhya-pradesh/

मध्यप्रदेश के 31 अभ्यारणों की सूची

https://hindidhaam.com/

क्रमांकनामक्षेत्रफल (वर्ग किलोमीटर)जिलाप्रमुख वन्य प्राणी
1.गांधीसागर133.778देवासतेंदुआ, चीतल, चिंकारा, नीलगाय, जलपक्षी
2. नरसिंहगढ़57.190राजगढ़तेंदुआ, सांभर, चीतल, जंगली सूअर, मोर
3.खिवनी134.778देवासतेंदुआ, चीतल, सांभर, नीलगाय, हिरण
4.पचमढ़ी491.632होशंगाबादतेंदुआ, चीतल, चिंकारा, नीलगाय, शेर, गौर
5.बोरी485.715होशंगाबाद
तेंदुआ, चीतल, चिंकारा, नीलगाय, शेर, गौर,जंगलीसूअर
6.डुबरी(संजय)364.693सीधीतेंदुआ, चीतल, चिंकारा, नीलगाय, शेर, सांभर
7. रातापानी825.907रायसेन/सीहोरतेंदुआ, चीतल, नीलगाय, शेर, सांभर
8.सिंघोरी291.915रायसेनतेंदुआ, चीतल, नीलगाय, शेर, सांभर
9.नौरादेही1194.672सागर/दमोह/नरसिंहपुरतेंदुआ, चीतल, नीलगाय, शेर, सांभर, जंगली कुत्ता
10.पेंच(मुंगावली)118.473 पेंचतेंदुआ, चीतल, गौर, शेर, सांभर
11.राष्ट्रीय चंबल435मुरैनाघड़ियाल, मगरमच्छ, कछुआ, उद्बिलाव, घड़ियाल, डॉल्फिन
12.केन(घड़ियाल)45.201छतरपुर/पन्नाघड़ियाल, मगरमच्छ
13.सोन(घड़ियाल)83.684सीधी/शहडोल/सतना/सिंगरौलीघड़ियाल, मगरमच्छ, कछुआ, प्रवासी पक्षी
14.कूनो पालपुर344.686श्योपुरीशेर, तेंदुआ, चीतल, सांभर, नीलगाय, चिंकारा
15.करेरा202.210शिवपुरीचीतल, सांभर, नीलगाय, सुनहरी चिड़िया
16.घाटीगांव510.640ग्वालियरसांभर, नीलगाय, चिंकारा, सुनहरी चिड़िया
17.फेन110.740मंडलातेंदुआ, शेर, चीतल, सांभर
18.पनपठा245.842उमरियातेंदुआ, शेर, चीतल, सांभर, नीलगाय, हिरण
19.सरदारपुर (खरमौर)348.121धारचिड़िया, फूल
20.सैलाना (खरमौर)12.965रतलामचिड़िया और फूल
21.बगदरा478सीधीतेंदुआ, चीतल, सांभर, नीलगाय
22.गंगऊ78.536पन्नातेंदुआ, जंगली सूअर, सांभर, चीतल, नीलगाय, चिंकारा
23.रालामंडल2.345इंदौरबाघ, तेंदुआ, चीतल, सांभर, गोर, भालू
24.ओरछा44.914टीकमगढ़तेंदुआ, जंगली सूअर, सांभर, चीतल, चिंकारा
25.कालीभीत……..बेतूल…………
26.वीरांगना (दुर्गावती)23.973दमोहसांभर, नीलगाय, कृष्ण मृग, चीतल
27.सुरमैनिया178.21खंडवा……..
28.मांधाता69.24खंडवा……….
29.कट्ठीवाड़ा90अलीराजपुर………
30.मयूर अभ्यारण…….झाबुआ………
31.कामधेनु गो अभ्यारण472.63आगर-मालवागो उत्पादों के उत्पादन व अनुसंधान हेतु
मध्यप्रदेश के 31 अभ्यारणों की सूची

मध्यप्रदेश के 31 अभ्यारणों की सूची

                      * अभ्यारण से संबंधित अन्य तथ्य *

मध्यप्रदेश के 31 अभ्यारणों की सूची

  1. विश्व का पहला गौ अभ्यारण मध्यप्रदेश के आगर मालवा जिले के सुसनेर क्षेत्र में स्थापित किया गया।
  2. मध्यप्रदेश में सबसे बड़ा अभ्यारण नौरादेही है जो मध्य प्रदेश के सागर जिले में उपस्थित है। जिसका क्षेत्रफल वर्ग किलोमीटर है।
  3. सबसे छोटा अभ्यारण रालामंडल है। जो मध्यप्रदेश के इंदौर जिले में उपस्थित है जिसका क्षेत्रफल 2.345 वर्ग किलोमीटर है।
  4. सरदारपुर (धार), सैलाना (रतलाम) खरमोर पक्षी के लिए संरक्षित है।
  5. करेरा (शिवपुरी), तथा घाटीगांव (ग्वालियर), अभ्यारण में लुप्त प्रजाति की चिड़िया सोन का संरक्षण किया गया है।
  6. चंबल (मुरैना), केन (छतरपुर), सोन (शहडोल) सीधी अभ्यारण में घड़ियाल पाए जाते हैं।
  7. पालपुर कूनो अभ्यारण में गिरी उद्यान (गुजरात) से इस उद्यान में लाए गए एशियाई शेरों को रखने का प्रस्ताव है।
  8. पन्ना स्थिर अभ्यारण जंगली भैंसों के लिए राष्ट्रीय उद्यान हेतु प्रस्तावित है।
  9. पश्चिम बंगाल के बाद मध्यप्रदेश में सर्वाधिक शेर पाए जाते हैं।
  10. मध्यप्रदेश में सर्वाधिक 11 राष्ट्रीय उद्यान तथा 31 अभ्यारण है, जिसमें 7 टाइगर रिजर्व, 2 खरमोर अभ्यारण,2 सोन चिड़िया अभ्यारण, 3 घड़ियाल अभ्यारण है तथा 2 राष्ट्रीय उद्यान देवास में संरक्षण हेतु स्थापित किए गए हैं।
  11. प्रदेश के राष्ट्रीय उद्यान एवं अभयारण्य के अंतर्गत कुल क्षेत्रफल हजार वर्ग किलोमीटर है, जिसमें से वन क्षेत्र 9.12 हजार वर्ग किलोमीटर है

मध्यप्रदेश के 31 अभ्यारणों की सूची

  1. खरमोर और सोन चिड़िया संरक्षण-विलुप्त प्राय: खरमोर एवं सोन चिड़िया संरक्षण के लिए राज्य में एक अभिनव योजना प्रारंभ की गई है। इसके तहत जन भागीदारी के जरिए इनके संरक्षण किए जाने के प्रयास किए जा रहे हैं। 2005 में प्रारंभ की गई यहां योजना खरमोर के मामले में सफल सिद्ध हुई। योजना के अंतर्गत यदि नर खरमोर की किसी किसान के खेत या बीड़ में जुलाई महीने में होने की सूचना दी जाती है, तो ₹1000 तथा यदि सितंबर-अक्टूबर तक रहने की सूचना पुनः मिलती है, ₹4000 दिए जाते हैं।सोन चिड़िया के संरक्षण के लिए सोन चिड़िया के अंडों की सूचना तथा अंडों को हैचिंग तक सुरक्षित रखने तक सूचना दाता को ₹10000 का पुरस्कार देने का प्रावधान है।

मध्यप्रदेश के 31 अभ्यारणों की सूची

  1. सिंह पुनर्वास कार्यक्रम-देश में विलुप्त प्राया एशियाई शेरों की प्रजाति के संरक्षण के लिए एशियाई शेरों के पूर्ण आवास हेतु केंद्र सरकार की पहल पर राज्य में कूनो पालपुर अभ्यारण, शिवपुर का चयन किया गया एवं एशियाई शेरों का पूर्ण आवास कार्यक्रम प्रारंभ किया गया। देश के एकमात्र संरक्षित क्षेत्र गिरी राष्ट्रीय उद्यान, गुजरात जहां एशियाई सिंह पाए जाते हैं, वहां से सिंहो को लाया जाएगा।

मध्यप्रदेश के 31 अभ्यारणों की सूची

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: