मप्र की पहली महिला बनी गाइड-रेखा चोपड़ा/Madhya Pradesh First Tourist Women Guide/मुख्यमंत्री द्वारा बेस्ट महिला गाइड का अवार्ड/सास ने बढ़ाई हिम्मत लेकिन रेखा चोपड़ा के घर वालों ने जताया विरोध

मप्र की पहली महिला बनी गाइड-रेखा चोपड़ा

आज हम आपको जिस महिला के बारे में बताने वाले है उनकी हिम्मत उनका मायका वाले नहीं जबकि उनके ससुराल वाले बने और उन्हें अपनी जिन्दगी में आगे जाने के लिए इतनी हिम्मत दी कि आज वह मध्य प्रदेश की पहली महिला टूरिस्ट गाइड हैं।उस महिला का नाम है रेखा चोपड़ा जो भोपाल की रहने वाली हैं उन्हें टूरिस्ट गाइड का काम संभालते हुए 30 साल से ऊपर हो गया हैं।

Advertisement

22 साल की उम्र में हुई रेखा चोपड़ा की शादी-

रेखा चोपड़ा की शादी 22 साल की उम्र में हुई तब उन्हें इस बात का अंदाजा भी नहीं था कि उनकी किस्मत इस तरह से उनका साथ देगी की वहां देश विदेश में भी फेमस हो जाएगी।रेखा की शादी जिस परिवार में हुई उनका पहले से ही टूरिज्म फैमिली का बिजनेस था।

हालांकि रेखा का सपना टीचर बनने का था क्योंकि उन्होंने बीएड की ड्रिगी हासिल की हुई थी। फिर एक दिन राज्य और केंद्र सरकार ने टूरिज्म गाइड का कोर्स शुरू किया जिसे करने का रेखा चोपड़ा का तो कोई मन नहीं था लेकिन उनके ससुर के कहने पर उन्होंने टूरिज्म गाइड का कोर्स ज्वाइन किया था। उनके साथ ही रेखा चोपड़ा के पति ने भी टूरिज्म गाइड का कोर्स ज्वाइन किया।

जब रेखा ने यहां कोर्स उनके पति के साथ ज्वाइन किया तो उस कोर्स में दो महिलाएं थी बाद में वह महिलाएं भी इस कोर्स को छोड़कर चली गई फिर भी रेखा ने इस कोर्स को नहीं छोड़ा और वहां अब अकेली ही महिला थी जो इस कोर्स में बची थी।

मध्य प्रदेश के प्रसिद्ध मंदिरों के बारे में जानने के लिये यहाँ देंखे:-https://hindidhaam.com/famous-temple-in-madhya-pradesh/

सास ने बढ़ाई हिम्मत लेकिन रेखा चोपड़ा के घर वालों ने जताया विरोध-

हमारे यहां के लोगों की सोच होती है कि ससुराल वाले के लिए लड़की पराई होती है लेकिन अब यहां सब धीरे धीरे खत्म होता जा रहा है इसका एक उदाहरण रेखा के परिवार वालो ने दिया क्योंकि लोगों को लगाता है की उनके घर वाले ही बेटी को अपनी बेटी समझते है और ससुराल वालो के लिये यहा पराई होती है लेकिन रेखा के ससुराल वालों ने लोगों की सोच के विपरीत काम किया क्योंकि उनको अपनी जिदगी मे आगे बढने के लिये उनके सास और ससुर ने उनका साथ दिया बल्कि उनकी हिम्मत भी बढ़ाई और रेखा चोपड़ा को आगे बढ़ने के लिये भी प्रोत्साहित किया।

रेखा चोपड़ा ने अपने पति को पीछे छोड किया टॉप-

जब टूरिज्म गाइड का रिजल्ट आया तो रेखा के लिये यहां पल बेहद खुशी भरा था क्योंकि उन्होंने अपने पति को तो पीछे छोड़ा इसके साथ ही उन्होंने टॉप भी किया। इसके बाद उन्होंने टीचर की लाइन छोड़ दी और टूरिज्म इंडस्ट्री में आगे बढ़ने की सोची हालांकि उनके लिये सब कुछ नया था फिर भी उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और आगे ही बढ़ती चली गई। रेखा को सबसे पहले फ्रेंच ग्रुप के साथ सांची भेजा गया।

Advertisement

रेखा चोपड़ा को मिला मुख्यमंत्री द्वारा बेस्ट महिला गाइड का अवार्ड-

रेखा चोपड़ा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बेस्ट महिला गाइड़ का अवार्ड देते हुए
रेखा चोपड़ा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बेस्ट महिला गाइड़ का अवार्ड देते हुए

रेखा अपने काम की वजह से देख विदेश तक जानी पहचानी जाने लगी रेखा के आस-पास के लोग तो उन्हें जानते ही थे लेकिन एक बार अमेरिका की टूरिस्ट लुईस निकल्सन ने उनका जिक्र फोर्ब्स इंडिया बुक में किया था निकल्सन ने रेखा चोपड़ा के बारे में जिक्र करते हुए कहां की आप कभी मध्य प्रदेश में स्थित सांची घुमने गये और रेखा चोपड़ा के साथ नहीं गए तो समझिए आपने सांची ही नहीं देखा। रेखा चोपड़ा को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा बेस्ट महिला गाइड का अवार्ड भी मिल चुका हैं।इसके बाद रेखा चोपड़ा ने कभी भी अपनी जिंदगी में पीछे मुड़कर नहीं देखा।

बाबा गरीब नाथ के जीवन से जुड़ी जानकारी के लिये यहां देंखे:- https://hindidhaam.com/%e0%a4%ac%e0%a4%be%e0%a4%ac%e0%a4%be-%e0%a4%97%e0%a4%b0%e0%a5%80%e0%a4%ac%e0%a4%a8%e0%a4%be%e0%a4%a5/

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: